15 अक्तूबर तक शीतगृहों को खाली कराने का निर्देश

0
0

15 अक्तूबर तक शीतगृहों को खाली कराने का निर्देश

– आलू बिक्री के लिए उपलब्ध होने से नियंत्रित होगी कीमत

संवाद न्यूज एजेंसी

महराजगंज। जिले में सक्रिय रुप से संचालित सभी सात शीतगृहों में भंडारण कर रखे गए 15,300 मीट्रिक टन आलू की 15 अक्तूबर तक बाजारों में बिक्री के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। भंडारण के आलू के निकासी से जहां आलू की कीमतें नियंत्रित रहेंगी, वहीं आलू की फसल में अंकुरण की स्थिति उत्पन्न नहीं होगी। उद्यान विभाग ने शीतगृहों के जिम्मेदारों को पत्र भेजकर 15 अक्तूबर तक शीतगृहों को खाली कराने का निर्देश दिया है।

जिले भर में कुल आठ शीतगृह संचालित है जिनकी भंडारण क्षमता 35,000 मीट्रिक टन है। इसमें से विश्वंभर कोल्ड स्टोरेजे फरेंदा में इस बार भंडारण नहीं हुआ है। वहीं गंगोत्री कोल्ड स्टोरेज रनियापुर, रामदेई कोल्ड स्टोरेज फरेंदा, नायक कोल्ड स्टोरेज पनियरा, प्रेम कोल्ड स्टोरेज फरेंदा, मथुरा कोल्ड स्टोरेज, पीडी सर्राफ कोल्ड स्टोरेज व जैन कोल्ड स्टोरेज में कुल 15,895 मीट्रिक टन आलू का भंडारण किया गया था। अब तक उसमें से 508 मीट्रिक टन आलू की निकासी की जा चुकी है, अवशेष पड़े 15387 मीट्रिक टन आलू को भी 15 अक्तूबर तक शीतगृहों से निकाले जाने पर जोर है। कारण कि समय से निकासी से जहां आलू की कीमत नियंत्रित रहेगी वहीं किसानों को भी अच्छी आय प्राप्त होगी। आलू को अंकुरण से बचाया जा सकेगा वह अलग। प्रभारी जिला उद्यान अधिकारी विकास श्रीनेत ने बताया कि कोल्ड स्टोरेज संचालकों को पत्र भेजकर 15 अक्तूबर तक उसे खाली कराने का निर्देश दिया गया है। समय से उसके खाली होने से किसानों को भी लाभ मिलेगा।

Source- www.amarujala.com

Previous article‘कृषक उत्पादक संगठन के गठन पर जोर दें जिम्मेदार’