सीबीएसई: झूठी जानकारी देकर प्रवेश लेने वाले स्कूलों पर टेढी हुई निगाहें, जानिए क्या है पूरा मामला

0
8

सीबीएसई ने अभिभावकों से अपील की है कि बच्चों को दाखिला दिलाने से पूर्व स्कूल की मान्यता की जांच जरूर कर लें। बोर्ड को शिकायत मिली थी कि कुछ स्कूल बगैर मान्यता के ही अपने संस्थान की वेबसाइट या बोर्ड पर सीबीएसई पैटर्न, एफिलिएशन (संबद्धता) सरीखी जानकारी देकर अभिभावकों को अपने जाल में फंसा रहे हैं। बोर्ड ने इस संबंध में जिले के 117 स्कूलों को आदेश भी जारी किया है।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) अभिभावकों को झूठी जानकारी देकर बच्चों का दाखिला लेने वाले स्कूलों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की योजना बना रहा है। बोर्ड ने ऐसे स्कूलों को चेतावनी भी दी है। कई अभिभावकों ने बोर्ड को शिकायत की थी कि जो स्कूल मान्यता प्राप्त करने की प्रक्रिया में हैं या उनके आवेदन निरस्त कर दिए गए हैं या उन स्कूलों ने मान्यता के लिए आवेदन ही नहीं किया है, वे भी धड़ल्ले से अपने स्कूल की वेबसाइट पर बोर्ड का लोगो इस्तेमाल कर रहे हैं। वे स्कूल के -ों में भी सीबीएसई से मान्यता हासिल करने का दावा कर रहे हैं जो नियमों के विपरीत है।

केवल मान्यता हासिल करने वाले स्कूल ही सीबीएसई के लोगो का इस्तेमाल करने के लिए अधिकृत हैं। जो स्कूल बिना अनुमति के बोर्ड के लोगो का इस्तेमाल कर रहे हैं, ऐसे स्कूलों पर कार्रवाई होगी। – अजीत दीक्षित, जिला समन्वयक, सीबीएसई

Source- www.amarujala.com

Previous articleगोरखपुर: बैंकों के लोन और खनन पट्टों के दस्तावेज खंगालेगा रजिस्ट्री विभाग, इस खास वजह से अभियान चलाएंगे नए डीआईजी
Next articleगोरखपुर: मासूम को झारखंड में बेचने के लिए मौसा ने किया था अपहरण, पुलिस ने भेजा जेल